चेतेश्वर पुजारा ने धीमी बल्लेबाजी पर आलोचकों को दिया जवाब, बोले- इससे बेहतर नहीं कर सकता


ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में तीसरे टेस्ट के तीसरे दिन जरूरत से ज्यादा रक्षात्मक खेल के कारण चेतेश्वर पुजारा को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। दिन का खेल समाप्त होने के बाद पुजारा ने आलोचकों को जवाब देते हुए कहा कि मैं इससे बेहतर नहीं कर सकता हूं। आस्ट्रेलियाई टीम की शानदार गेंदबाजी के कारण उन्हें अपने टेस्ट करियर का सबसे धीमा अर्धशतक बनाने पर मजबूर होना पड़ा। पुजार ने 176 गेंद में 50 रन बनाए।

पुजारा की धीमी बल्लेबाजी से ऑस्ट्रेलिया को मैच पर पकड़ बनाने में मदद मिली। पुजारा ने कहा, ‘‘मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा था और एक बेहतर गेंद पर आउट हुआ। मुझे बस इस बात को स्वीकार करना है। मैं जो कर रहा था, उससे बेहतर कुछ नहीं कर सकता था। मुझे लगता है कि मुझे सिर्फ बल्लेबाजी करनी है, मुझे पता है।’’ पुजारा के मुताबिक सीरीज में उनके खिलाफ शानदार गेंदबाजी कर रहे पैट कमिंस ने ‘सीरीज की सबसे बेहतर गेंद’ डाली, जिस पर वह कुछ नहीं कर सके।

पुजारा ने कहा, ‘‘वह ऐसी गेंद फेंकते है जिसका सामना करना मुश्किल होता है। मुझे लगता है कि वह सीरीज की सर्वश्रेष्ठ गेंद थी। मुझे नहीं लगता कि मैं उस गेंद पर कुछ कर सकता था। अतिरिक्त उछाल के कारण मुझे उस गेंद को खेलना पड़ा। जब आपका दिन अच्छा नहीं होता है तो गलती पर बचने की गुंजाइश काफी कम होती है।’’ पुजारा ने कहा कि इस टेस्ट मैच में दोनों टीमों का अंतर गेंदबाजों का अनुभव है।

पुजारा ने कहा, ‘‘अगर आप हमारे तेज गेंदबाजों को देखेंगे, वे अनुभवी नहीं है, लेकिन वे सुधार कर रहे है, वे बेहतर होंगे। उनके लिए यह सीखने का अच्छा मौका है। ऋषभ पंत के आउट होने के बाद मैच का रूख पलट गया और ऑस्ट्रेलिया ने दबदबा बना लिया। अगर आप देखेंगे तो हम परेशानी में तभी आए जब पंत आउट हुए। उससे पहले हम अच्छी स्थिति में थे। चार विकेट पर 180 रन के साथ हम अच्छा कर रहे थे लेकिन पंत के आउट होने के बाद चीजें बदल गईं।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो





.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *