जब बांग्लादेश में टीम इंडिया को पीना पड़ा था अपमान का घूंट, जिस ऑलराउंडर ने बचाई भारत की लाज, उसे ही…


भारत और बांग्लादेश के बीच अब तक 36 वनडे इंटरनेशनल मैच हुए हैं। इनमें से भारत ने 30 अपने नाम किए हैं, जबकि पांच में उसे हार झेलनी पड़ी है। एक मैच का नतीजा नहीं निकला था। भारत ने बांग्लादेश में 22 वनडे खेले हैं। इनमें से 17 में उसे जीत हासिल हुई है, जबकि Four में हार झेलनी पड़ी है। एक मैच का नतीजा नहीं निकला था। हालांकि, यह Four की संख्या 5 हो सकती थी, यदि 17 जून 2014 को स्टुअर्ट बिन्नी (Stuart Binny) ने भारत की लाज नहीं बचाई होती।

ढाका के मीरपुर स्थित शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम में खेले गए उस मैच में टीम इंडिया को अपमान का घूंट पीना पड़ा था। बांग्लादेश ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। बारिश के कारण मैच 41-41 ओवर का कर दिया गया था। भारत की शुरुआत खराब हुई। एक रन के स्कोर पर ही उसका पहला विकेट (अजिंक्य रहाणे) गिर गया। इसके बाद रॉबिन उथप्पा और चेतेश्वर पुजारा ने पारी संभालने की कोशिश की, लेकिन ज्यादा सफल नहीं हुए। टीम इंडिया के खाते में 65 रन ही जुड़े थे और उसकी आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। इसके बाद तत्कालीन कप्तान सुरेश रैना ने 27 रन बनाए और टीम को तीन अंकों तक पहुंचाया।

हालांकि, वह भी रन आउट हो गए और पूरी टीम 25.three ओवर में 105 रन पर पवेलियन लौट गई। बांग्लादेश की ओर से तासकिन अहमद ने 28 रन देकर पांच विकेट लिए थे। तासकिन उस समय महज 18 साल के थे। छोटे से लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की टीम की शुरुआत भी खराब रही। मोहित शर्मा ने बांग्लादेश के ओपनर तमीम इकबाल को दूसरी ही गेंद पर आउट कर दिया। मोहित ने तीसरे ओवर में एनामुल हक को भी पवेलियन की राह दिखा दी। हालांकि, मोहम्मद मिथुन और मुश्फिकुर रहीम क्रीज पर टिक गए और स्कोर को 31 रन तक ले गए।

इसके बाद सुरेश रैना ने स्टुअर्ट बिन्नी को गेंद थमाई। बिन्नी के आने के बाद तो बांग्लादेश की टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। बिन्नी ने 12वें ओवर की चौथी गेंद पर मुश्फिकुर रहीम को आउट किया। उन्होंने अगले ओवर में मिथुन और महमदुल्लाह को पवेलियन भेज दिया। उन्होंने पहले तीन विकेट बिना रन दिए ही ले लिए थे।

स्टुअर्ट बिन्नी ने इसके बाद मशरफे मुर्तजा और नासिर हुसैन को बोल्ड कर दिया। बिन्नी ने 18वें ओवर की चौथी गेंद पर अल अमीन हुसैन को बोल्ड कर महज Four रन देकर 6 विकेट लेने का कारनामा किया। इसके साथ ही बांग्लादेश की टीम 17.Four ओवर में 58 रन पर सिमट गई और भारत ने 47 रन से मैच जीत लिया।

स्टुअर्ट बिन्नी ने उस मैच में अनिल कुंबले के रिकॉर्ड भी तोड़ा था। वह वनडे क्रिकेट में सबसे कम रन देकर 6 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज बन गए थे। इससे पहले यह रिकॉर्ड महान लेग स्पिनर अनिल कुंबले के नाम था। कुंबले ने 1993 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 रन देकर 6 विकेट लिए थे। बिन्नी ने 4.Four ओवर में Four रन देकर ही 6 विकेट लिए थे। हालांकि, वनडे क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ इकॉनमी गेंदबाजी का रिकॉर्ड चामिंडा वास के नाम है। चामिंडा वासा ने 2001 में जिम्बाब्वे के खिलाफ eight ओवर में 19 रन देकर eight विकेट हासिल किए थे।

स्टुअर्ट बिन्नी का वह तीसरा वनडे ही था। इतने शानदार प्रदर्शन के बाद स्टुअर्ट बिन्नी रातों-रात स्टार बन गए थे। हालांकि, वह टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए। इसके बाद अगले 11 मैच में उन्होंने 14 विकेट लिए। हालांकि, 2015 में उन्हें अचानक वनडे टीम से बाहर कर दिया गया। इसके बाद से वह टीम इंडिया के लिए नहीं चुने गए हैं।




.(tagsToTranslate)India vs Bangladesh(t)Report(t)Cricket(t)Finest bowling figures in an innings(t)Finest bowling figures in an innings by an Indian(t)Stuart Binny(t)Anil Kumble


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *