रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ कैंसर से लड़ने में सहायक है ‘मशरूम’


लखनऊ। 22 से 35 प्रतिशत तक उच्च कोटि के प्रोटीन के साथ ही तमाम तत्वों से भरपूर मशरूम कैंसर जैसी बीमारियों को कम करने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत उपयोगी है। विभिन्न प्रकार के मशरूमों में बटन मशरूम शिटेक, सीप, प्लुरोटस ओस्ट्रेटस आदि प्रसिद्ध हैं। यह हृदय रोग में लाभकारी होने के साथ ही दिमाग को भी तेज करने में सहायक है।

इस संबंध में बीएचयू के पंचकर्म विभाग के विभागाध्यक्ष डाक्टर एसके राय ने बताया कि इसमें कार्बोहाइड्रेट 5.10 ग्राम, वसा .57 ग्राम, प्रोटीन 3.12 ग्राम, शुगर .60 ग्राम, फाइबर 2.eight ग्राम, नियासिन 2.252 मिलीग्राग, राइबोफ्लेविन .205 मिग्रा, थियामिन .069 मिग्रा, विटामिन बी-6-.136 मिग्रा, विटामिन डी (डी-2 व 3), 5.Three आईयू, विटामिन डी 206 आईयू, सोडियम 21 मिग्रा, पोटेशियम 411 मिग्रा, कैल्शियम 43 मिग्रा, आयरन 12.18 मिग्रा, मैग्निशियम 19 मिग्रा, फास्फोरस 194 मिग्रा, जिंक 2.03 मिग्रा के साथ ही कई अन्य पोषक तत्व भी पाये जाते हैं, जो अन्यत्र दुर्लभ है।

एंटी ट्यूमर गुण से भरपुर 

डाक्टर जेपी सिंह ने बताया कि मशरूम में कई प्रकार के बायोएक्टिवट कंपांउड भी होते हैं। एंटी कैंसर, इम्यूनोमाडयूलेटरी, एंटीमाईक्रोबियल, हेपेटोप्रोटेक्टिव, एंटीडायबिटिक गुण होने के कारण मशरूम सैकड़ों रोगों में फायदेमंद है। इसकी कई दवाएं भी बनती हैं। उन्होंने हिन्दुस्थान समाचार से बताया कि इसमें एंटी ट्यूमर गुण पाये जाते हैं। इस कारण यह स्तन कैंसर और प्रोटेस्ट कैंसर से बचाने में मददगार साबित होता है। इसके अलावा, यह कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाओं को पनपने से रोकने में भी फायदेमंद हो सकता है।

रक्त में मौजूद शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है

डाक्टर जेपी सिंह के अनुसार मधुमेह जैसी समस्या से बचने के लिए भी इसका सेवन किया जाना उपयुक्त होगा। यह रक्त में मौजूद शुगर की मात्रा को कम मधुमेह को नियंत्रित करता है। इसके सेवन शरीर में इंसुलिन का स्तर बेहतर हो सकता है। उन्होंने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में कहा कि यह पॉलीसेकेराइड से समृद्ध होता है। इस कारण प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर तमाम रोगों से लड़ने में सहायक होता है। वहीं विटामिन-डी की भी अच्छी मात्रा मिलने के कारण हड्डियों को स्वस्थ रखने में भी सहायक है।

हृदय संबंधी समस्याओं से मिलती है निजात

उन्होंने कहा कि मशरूम में फाइबर के साथ-साथ पॉलीसेकेराइड, पॉलीफेनोल, फ्लेवोनोइड्स जैसे कई बायोएक्टिव कंपाउंड मिलता है, जो मोटापे के कारण होने वाली हृदय संबंधी समस्या से निजात दिलाता है। मशरूम में उच्च फाइबर, अनसैचुरेटेड फैटी एसिड व सोडियम के साथ-साथ इरिटेडेनिन फेनोलिक यौगिक और स्टेरोल्स) जैसे घटक के कारण ब्लड प्रेशर, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और इंफ्लेमेटरी डैमेज पर भी सकारात्मक प्रभाव दिखाते हैं। इसके अलावा, मशरूम में एंटी ओबेसिटी गुण होने के कारण इससे वजन भी कम करने में सहायता मिलती है।

कब्ज को दूर करने में है सहायक

डाक्टर जेपी सिंह ने बताया कि मशरूम में एंटी-अल्सर गुण पाए जाते हैं। मशरूम में पाया जाने वाला यह गुण अल्सर से उबरने में कुछ मदद कर सकता है। इसमें फाइबर की मात्रा भी पाई जाती है, जिससे कब्ज संबंधी लक्षणों को दूर करता है। कई प्रकार के विटामिनों के स्रोत होने के साथ ही एनीमिया की रोकथाम, गर्भवती और उसके भ्रूण के लिए फायदेमंद है।

त्वचा को बनाता है कोमल, मुहांसे में भी फायदेमंद

मशरुम त्वचा को कोमल और हाइड्रेट बनाने में मदद करता है। इसका सेवन झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकते हैं। मशरूम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। इस कारण इससे मुहांसे दूर करने में भी मदद मिलती है। मशरूम को विटामिन डी, एंटीऑक्सीडेंट और आयरन, सेलेनियम व कॉपर जैसे मिनरल का अच्छा स्रोत होने के कारण बालों को झड़ने से रोकने में भी मदद करता है।

यह खबर भी पढ़े: RBSE Board Exams 2021: 10वीं और 12वीं की परीक्षा 15 मई से 15 जून के बीच होगी, अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं जून में…

यह खबर भी पढ़े: दिशा पाटनी की सुपर टोन्ड बॉडी का राज, स्ट्रिक्ट डायट का पालन करने के लिए करती हैं ये काम

.(tagsToTranslate)आयुर्वेदाचार्य(t)दिमाग को तेज(t)मशरूम(t)चेहरे पर निखार(t)रोग प्रतिरोधक क्षमता(t)कैंसर से लड़ने(t)ayurvedacharya(t)sharp mind(t)mushroom(t)face enchancment(t)immunity(t)battle most cancers


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *