Ajinkya Rahane reveals how he apply the toss in evening day earlier than towards australia check match ind…


अजिंक्य रहाणे ने जब पहली बार टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया की कमान संभाली थी तो मैच शुरू होने से पहले वाली रात को करीब पौन घंटे तक वह टॉस की ही प्रैक्टिस करते रहे थे। रहाणे ने विक्रम साठिया के यूट्यूब चैनल पर टेस्ट मैच में पहली बार कप्तानी मिलने की कहानी सुनाने के दौरान यह बात बताई थी। बता दें कि विराट कोहली के पितृत्व अवकाश लेने के कारण अजिंक्य रहाणे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस टेस्ट सीरीज में भारतीय क्रिकेट टीम की अगुआई कर रहे हैं।

पहले टेस्ट में विराट कोहली ने टीम की कमान संभाली थी। उसके बाद से वह पैरेंटल लीव पर हैं। बतौर कप्तान अजिंक्य का यह चौथा टेस्ट और कुल 9वां अंतरराष्ट्रीय मुकाबला है। अजिंक्य को टेस्ट में पहली बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही टीम इंडिया की कमान संभालने को मिली थी। उस टेस्ट मैच के शुरू होने से पहले वाली शाम को ही उनको पता चला था कि विराट कोहली पूरी तरह से फिट नहीं हैं और उन्हें टीम की कमान संभालनी है। रहाणे ने कप्तान बनने के बाद पहली तैयारी टॉस के लिए की थी। वह रात में 45 मिनट तक अपने कमरे में टॉस उछालने की प्रैक्टिस करते रहे थे।

शो के दौरान विक्रम ने रहाणे से कहा, ‘हम सब टीवी देख रहे थे और पता चला कि विराट कोहली नहीं खेल रहे हैं, तो हम डर गए। इतना महत्वपूर्ण मुकाबला, फाइनल मैच ऑफ द सीरीज। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इंडिया में नहीं हारना है अजिंक्य! आप नहीं डरे?’ रहाणे ने कहा, ‘डर तो हमें भी बहुत लगा था। काफी नर्वस भी थे हम। विराट आए मैच के पहले दिन शाम को। उन्होंने मुझे कहा कि ऑल द बेस्ट। एक वाइस कैप्टन के तौर पर मुझे लगा कि यह क्या हुआ? कैप्टन बनने की एक खुशी भी थी, लेकिन मेरे ख्याल से खुशी से ज्यादा कहीं न कहीं गम भी था, क्योंकि जो महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं और कैप्टन हैं टीम के, वह नहीं खेल रहे हैं।’

रहाणे ने कहा, ‘हमारे लिए वह बहुत अहम मुकाबला भी था। सीरीज 1-1 से बराबर थी। हमें सीरीज जीतनी थी। लेकिन मैं कॉन्फिडेंड था। विराट ने भी मुझे बैक किया। उन्होंने टीम चुनने का फैसला पूरी तरह से मुझ पर छोड़ दिया था।’ उस समय टीम इंडिया के कोच अनिल कुंबले थे। रहाणे ने बताया कि कुंबले ने भी उनसे बोला था कि ऑन द फील्ड आपको फैसले लेने हैं। आप जो चाहे करें।

विक्रम ने रहाणे से पूछा, ‘अचानक विराट कोहली आता है कि सर आप कप्तान हो आप करो कैप्टेंसी। तैयारी कैसे करते हो आप। यानी कल मैच है। कप्तान बोल रहा है कि सर आप करो कैप्टेंसी, पर आप क्या बोलते हो, क्या तैयारी करते हो आप?’ इस पर रहाणे ने बताया, ‘एक बात बताऊं। तैयारी जरूर करता हूं। क्रिकेट में बैटिंग, फील्डिंग के लिए भी मैंने तैयारी के ऊपर बहुत ज्यादा ध्यान दिया है।’

रहाणे ने बताया, ‘उस वक्त मैं टॉस को लेकर तैयारी कर रहा था।’ विक्रम ने आश्चर्य से पूछा, ‘टॉस के ऊपर?’ रहाणे ने कहा, ‘हां। मैं आपको दिखाता हूं। मैच के पहले रात को 30 से 45 मिनट तक मैं टॉस की प्रैक्टिस कर रहा था। मुझे भी कुछ भी करके टॉस जीतना था। बस मैं ऐसे बैठा था और टॉस की प्रैक्टिस कर रहा था, लेकिन फिर भी मैं टॉस हार गया था।’ इतना सुनते ही विक्रम हंसने लगे। रहाणे भी मुस्कुराने लगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो





.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *