Colon Most cancers Therapy; Excessive-tech Digital camera In The Lavatory Detect Of Bowel Most cancers | टॉयलेट सीट में लगा…


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

टॉयलेट में लगे कैमरे से आंत के कैंसर का पता लगाया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने सिक्के से भी छोटा कैमरा विकसित किया है जो मल को स्कैन करेगा। इसमें खून की बूंदें मिलने पर आपको अलर्ट करेगा। मल में ब्लड मिलना आंत के कैंसर का एक लक्षण है। इसे विकसित करने वाले ब्रिटिश वैज्ञानिकों का दावा है कि यह 90% तक सटीक रिजल्ट बताा है।

मोबाइल ऐप से कनेक्ट रहेगा कैमरा

यह कैमरा मोबाइल ऐप के जरिए कनेक्ट रहता है। मल की स्कैनिंग के दौरान कैंसर का लक्षण मिलने पर कैमरा मिनटों में आपको जानकारी देगा। इसकी रिपोर्ट डॉक्टर से शेयर की जा सकेगी। लक्षण की पुष्टि होने पर कोलोनोस्कोपी की जा सकेगी और समय रहते कैंसर को अगली स्टेज में पहुंचने से रोका जा सकेगा।

50 पार होने वाले हर 20 में से एक इंसान में आंत का कैंसर
ब्रिटेन के कैंसर रिसर्च इंस्टीट्यूट का कहना है, हर साल ब्रिटेन में आंत के कैंसर से 16 हजार मौतें होती हैं। 50 साल की उम्र के पड़ाव पर हर 20 में से एक इंसान को आंत का कैंसर होता है।

ऐसे काम करती है डिवाइस

  • इस कैमरे को टॉयलेट सीट में फिट किया जाता है, इसकी मदद से स्कैनिंग होती है।
  • जांच के लिए टॉयलेट करने से पहले स्मार्टफोन में इस कैमरे से जुड़ी ऐप को खोलना होगा।
  • यह ऑटोमेटिकली कैमरे से कनेक्ट हो जाएगी। अब कैमरा ऑप्टिकल इमेजिंग के जरिए मल को स्कैन करेगा।
  • कैमरे से निकलने वाली वेवलेंथ लाइट से मल में मौजूद ब्लड की जांच होगी।
  • जांच के कुछ ही मिनटों में ऐप पर रिपोर्ट आ जाएगी।

क्या है बड़ी आंत का कैंसर
इसे बॉवेल कैंसर भी कहते हैं। फेफड़े के कैंसर के बाद सबसे ज्यादा लोग इसी से मरते हैं। अक्सर कब्ज या दस्त रहता है या मल से खून आता है तो ये आंत के कैंसर का इशारा है। बिना किसी वजह के वजन घटना, पेट में अक्सर दर्द या ऐंठन रहना भी कैंसर का इशारा है।

.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *