The right way to get aid by means of Vastu


यूं तो वास्तु शास्त्र घर, प्रासाद, भवन अथवा मन्दिर निर्मान करने का प्राचीन भारतीय विज्ञान है, जिसे आधुनिक समय के विज्ञान आर्किटेक्चर का प्राचीन स्वरुप माना जा सकता है। वहीं संस्कृत में कहा गया है ‘गृहस्थस्य क्रियास्सर्वा न सिद्धयन्ति गृहं विना।’ दक्षिण भारत में वास्तु का नींव परंपरागत महान साधु मायन को जिम्मेदार माना जाता है और उत्तर भारत में विश्वकर्मा को जिम्मेदार माना जाता है।

भले ही आप शुभ या अशुभ में विश्वास न भी रखते हों, लेकिन आपको इस बात को तो मानना ही पड़ेगा कि दुनिया में नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा होती है, जो हमारे जीवन को प्रभावित करती है। ऐसे में इस नकारात्मक ऊर्जा को नियंत्रित करके सकारात्मकता फैलाने के लिए वास्तुशास्त्र में कुछ उपाय बताए गए हैं, माना जाता है कि इसका ध्यान रखने पर आपके घर में सुख-शांति रहने के साथ आर्थिक परेशानी नहीं आती। अनजाने में हम ऐसी गलतियां कर बैठते हैं, जिससे नकारात्मक ऊर्जा घर में हावी हो जाती है और हमारे जीवन में उथल-पुथल हो जाती है।

यह बात आज हम इसलिए कर रहे हैं क्योंकि 2020 का वर्ष हम सभी के लिए मुश्किलों भरा है। कोरोना के चलते हमारी लाइफ पर गहरा प्रभाव पड़ा है। लाइफ स्टाइल और वर्क स्‍टाइल दोनों ही चेंज हो चुकी हैं। आये द‍िन आने वाली कोरोना की खबरों और महीनों तक घर पर रहने से लोगों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर इसका असर साफ द‍िख रहा है।

ऐसे में जब हम कोरोना से लड़ते हुए व्यक्तिगत रूप से मनोबल को ऊंचा रखने की कोशिश कर रहे हैं, तब एक काम और खास हो जाता है क‍ि हम अपने आसपास से नेगेट‍िव‍िटी को दूर रखें। ऐसे में हम वास्‍तुशास्‍त्र का सहारा ले सकते हैं। नेगेट‍िव एनर्जी को दूर करने के ल‍िए वास्‍तु में कई उपाय बताये गए हैं। वास्‍तु की जानकार रचना मिश्रा के अनुसार वास्‍तु के कुछ व‍िशेष उपायों से हम कोरोना की टेंशन को पलभर में दूर कर सकते हैं…

वास्‍तुशास्‍त्र के अनुसार सबसे महत्वपूर्ण और खास बात हमारे घर और आसपास की सफाई है और जितना संभव हो उतना इसे व्यवस्थित करना है। ध्‍यान रखें क‍ि धूल और गंदगी या फ‍िर अवांछित चीजें जो उपयोग नहीं की जाती हैं, वे नकारात्मक शक्तियां उत्पन्न करती हैं।

साथ ही धनात्मक शक्ति को घर में आने से रोकती हैं। इसलिए घर में और घर के आसपास हर जगह साफ-सफाई का व‍िशेष ध्‍यान रखें। ताकि वायरस (जो सतह पर रहता है) और ऐसे अन्य कीटाणुओं और रोगाणुओं का संचय न हो।

घर में हों कोरोना मरीज, तो…
अगर क‍िसी के घर में कोई कोरोना मरीज है, तो मरीज और उनकी दवाओं को पूर्वोत्तर क्षेत्र के उत्तर में रखा जाना चाहिए। इसके अलावा ईश्वर या प्रार्थना कक्ष का निवास उत्तर से पूर्व क्षेत्र में कड़ाई से होना चाहिए। ध्‍यान रखें क‍ि दिन में दो बार कम से कम 15 मिनट के लिए ध्यान करने से मन स्थिर और शांत हो जाएगा और भावनात्मक गड़बड़ी से अवांछित तनाव या चिंता से छुटकारा पाने में मदद मिलेगी।

रंग भी दिखाएंगे अपना कमाल…
कोरोना महामारी की इस नकारात्मता को दूर करने के ल‍िए घर के विभिन्न हिस्सों में कपूर जलाएं। ऐसा करने से सारी नकारात्मकता दूर हो जाती है। ध्‍यान रखें कपूर की खुशबू भी अच्छी होती है, जो आसपास के वातावरण को अच्छा और शुभ कंपन देता है। ज्ञात हो कि वास्‍तु में रंगों का व‍िशेष महत्‍व है।

यह हमारे जीवन से सारी नकारात्मकता को दूर रखने की ताकत रखते हैं। इसल‍िए वास्‍तु के अनुसार घर के उत्तर और उत्तर-पूर्व क्षेत्र में नीले रंग का उपयोग किया जाना चाहिए और पूर्व क्षेत्र में हरा रंग। इससे पॉजीटिव‍िटी का संचार होता है और घर के सदस्‍यों की सेहत भी अच्‍छी रहती है।

बाथरुम और टॉयलेट के दरवाजे बंद रखें
बाथरुम और टॉयलेट के दरवाजें हमेशा बंद करके रखें, वहीं इनके दरवाजे बंद करते समय ज्यादा आवाज भी नहीं करनी चाहिए।








.(tagsToTranslate)vastu(t)VASTU TIPS FOR MENTAL HEALTH(t)VASTU TIPS TO GET RID OF NEGATIVE ENERG(t)कोरोना(t)कोरोना की वजह से तनाव(t)कोरोना के तनाव से बचने के उपाय(t)तनाव दूर करने के वास्‍तु उपाय(t)वास्‍तु के उपाय(t)Vastu Shastra(t)Vastushastra(t)Cash Vastu Ideas(t)Ideas For Cash(t)Vastu Ideas(t)Vastu Ideas For Cash(t)corona negativity(t)astrology(t)vaastu(t)vastu shastra


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *