madhya pradesh Congress group will examine deaths by consuming toxic liquor in morena brmp


भोपाल: मुरैना में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत का मामला अब तूल पकड़ चुका है. इस मामले में पूर्व सीएम कमलनाथ ने कांग्रेस की जांच समिति गठित की है, जो शराब पीने से हुई मौत के मामले की हर पहलू पर जांच करेगी. जांच समिति में कुल 6 सदस्यों को शामिल किया गया है. ये लोग पीड़ितों के परिवारों से मिलकर पूरे मामले की जांच करेंगे और रिपोर्ट मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौंपी जाएगी. 

जांच समिति में ये नेता शामिल

  1. बैजनाथ कुशवाह (विधायक)
  2. अजब सिंह कुशवाह(विधायक)
  3. राकेश मावई (विधायक)
  4. रविंद्र सिंह तोमर(विधायक)
  5. दिनेश गुर्जर(अध्यक्ष- किसान कांग्रेस)
  6. दीपक शर्मा(अध्यक्ष-शहर कांग्रेस मुरैना)

ये है पूरा मामला
दरअसल, मुरैना जिले में मंगलवार को जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत हो गई. जबकि अभी भी कई लोग बीमार हैं. इनमें 5 को गंभीर हालत में ग्लालियर रेफर किया गया है. पांचों की हालत नाजुक बनी हुई है. मामला बागचीनी थाना क्षेत्र के छेरा मानपुर गांव और सुमावली थाना के पहवाली गांव का है. 

ये भी पढ़ें: जहरीली शराब से मौतः कमलनाथ ने CM पर साधा निशाना ‘गाड़ दूंगा, टांग दूंगा, लटका दूंगा’ का क्या हुआ?

चार संदिग्ध लोगों के खिलाफ मामला दर्ज
शराब पीने से मरने वालों की जानकारी लगने के बाद मौके पर पहुंची स्थानीय थाना पुलिस ने बीमार लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया है. वहीं, मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने बागचीनी थाना में चार संदिग्धों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है, जबकि कुछ लोगों को पूछताछ के लिए पुलिस ने हिरासत में भी लिया है.

जहरीली शराब कांड पर सियासत तेज 
मुरैना में जहरीली शराब से हुई 12 लोगों की मौत मामले में मध्य प्रदेश की सियासत तेज हो गई है. इस मामले को लेकर पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर ट्वीट कर हमला बोला है. कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा,”प्रदेश में शराब माफियों का कहर जारी है. उज्जैन में 16 जान लेने के बाद अब मुरैना में शराब माफियाओं ने 10 करीब लोगों की जाने ली. शिवराज जी, आखिर कब तक शराब माफिया यूं ही लोगों की जान लेते रहेंगे? सरकार बीमार लोगों का समुचित इलाज करवाए और पीड़ित की हरसंभव मदद करे.” साथ ही उन्होंने शिवराज के ‘गाड़ दूंगा, टांग दूंगा, लटका दूंगा’ वाले चुनावी वादे को झूठा बताया.

पहले इन जिलों में हो चुकीं हैं मौतें
जहरीली शराब पीने से हुई मौतों का यह  कोई पहला मामला नहीं है, जब मध्य प्रदेश में जहरीली शराब पीने से इतने लोगों की मौत हुई है. इससे पहले उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 16 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं, उससे पहले लॉकडाउन के दौरान रतलाम जिले में अवैध जहरीली शराब पीने से eight लोगों की मौत हुई थी.

ये भी पढ़ें: मुरैना जहरीली शराब मामलाः 12 लोगों की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने किया चक्काजाम, प्रशासन से मांगी आर्थिक सहायता

ये भी पढ़ें:  मुरैना: जहरीली शराब का कोहराम, 11 लोगों की मौत, 4 की हालत गंभीर

WATCH LIVE TV

.(tagsToTranslate)morena toxic liquor(t)individuals died consuming toxic liquor(t)madhya pradesh Congress group(t)kamalnath(t)toxic liquor Drink(t)toxic liquor in morena(t)जहरीली शराब(t)मुरैना जहरीली शराब(t)जहरीली शराब कांड(t)मुरैना शराब(t)मुरैना जहरीली शराब(t)कमलनाथ(t)जांच समिति गठित(t)जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *