Small-town India Drives On-line Transactions By 80 P.c In 2020 – कोरोना काल में छोटे शहरों के…


साल 2020 में महामारी की वजह से लगाए गए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के चलते साल 2019 के मुकाबले ऑनलाइन लेनदेन में 80 फीसदी तक का इजाफा देखने को मिला है। खासकर छोटे शहरों में यह बदलाव अधिक देखा गया है, जहां व्यवसायियों से लेकर खरीददारों तक सभी ने उल्लेखनीय रूप से डिजिटल पेमेंट को अपनाया है। मंगलवार को जारी एक नई रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई।

टियर-2 और Three शहरों में 92 फीसदी तक इजाफा
फिनटेक यूनिकॉर्न रेजरपे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, टियर-2 और Three शहरों में लोगों द्वारा ऑनलाइन लेनदेन को अधिक अपनाए जाने के मद्देनजर इसमें 92 फीसदी तक इजाफा हुआ। बिल वगैरह भरने के लिए लोगों ने पैसे के लेनदेन की जगह डिजिटल पेमेंट को अधिक उपयोगी समझा, जिसके चलते यूटिलिटी पेमेंट और ऑनलाइन बिल पेमेंट में 357 फीसदी का उछाल देखा गया।

यह भी पढ़ें-इंस्टेंट लोन देकर फंसा रहे Chinese Apps, समय पर पैसा वापस न करने पर करते हैं गंदी डिमांड

यूपीआई के जरिए हुए अधिक लेनदेन
रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया कि इस दौरान क्रेडिट/डेबिट कार्ड, नेट बैंकिंग और वॉलेट पेमेंट के मुकाबले यूपीआई के जरिए अधिक लेनदेन हुए। साल 2019 के मुकाबले साल 2020 में यूपीआई ट्रांजैक्शन को लोगों ने पेमेंट का अधिक बेहतर जरिया माना और इसी के चलते महज एक ही साल में इसमें 120 फीसदी तक का उछाल देखने को मिला। ऐसा खासकर टीयर-2 और टीयर-Three शहरों में हुआ।

यह भी पढ़ें-इन Mobile Apps से रहें दूर, नहीं तो पड़ सकता है पछताना, पढ़ लें RBI की यह चेतावनी

अंतिम छमाही में 73 फीसदी की बढ़ोतरी
रेजरपे के सह-संस्थापक और सीईओ हर्षिल माथुर ने कहा, साल 2019 के मुकाबले 2020 में टोटल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में उछाल जरूर देखने को मिला, लेकिन मेरे लिए सबसे अधिक उत्साहजक बात यह रही कि साल की अंतिम छमाही में अकेले इसमें 73 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। टीयर-2 और टीयर-Three शहरों के ऑनलाइन लेनदेन में लगभग 92 फीसदी तक का इजाफा हुआ है। देश के इन हिस्सों से ऑनलाइन पेमेंट के क्षेत्र में इस कदर इजाफा हमें पहली दफा देखने को मिला है।








.(tagsToTranslate)Digital cost(t)digital funds(t)on-line funds(t)on-line funds information(t)UPI cost(t)UPI(t)tech information(t)newest tech information(t)Know-how Information(t)Know-how Information in Hindi


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *