UP Finances 2021: Provision of Rs 101 crores for Maryada Purushottam Shriram Airport in district…


UP Finances 2021: उत्तर प्रदेश में सोमवार को वित्त वर्ष 2021-22 के लिये 55,0270 करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया है। यह प्रदेश का पहला पेपरलेस बजट था, जिसे वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने विस सदन में टैबलेट के जरिए प्रस्तुत किया।

योगी सरकार ने 2021-22 के बजट में अयोध्या में निर्माणाधीन हवाई अडडे ‘मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट’ के लिए 101 करोड़ रुपए का प्रावधान किया, जबकि कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ रुपए की धनराशि का प्रस्ताव किया। खन्ना के मुताबिक, अयोध्या के विकास के लिए 140 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया गया है, जबकि अयोध्या एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम राम के नाम पर रहेगा। अमेठी और बलरामपुर में मेडिकल कॉलेज के लिए 175 करोड़ का बजट रखा गया है।

प्रदेश सरकार की ओर से बताया गया कि युवाओं के उत्थान हेतु मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में पात्र छात्रों को टैबलेट उपलब्ध कराया जाएगा। संस्कृत विद्यालयों में अध्ययनरत निर्धन छात्रों को गुरुकुल पद्धत्ति के अनुरूप निःशुल्क छात्रावास व भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही कोरोना महामारी के लॉकडाउन में विभिन्न प्रदेशों से वापस आए प्रदेश के श्रमिकों व कामगारों को रोजगार व स्वरोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ‘मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यमिता विकास योजना’ लाई जा रही है। इस योजना हेतु ₹100 करोड़ की बजट व्यवस्था प्रस्तावित है।

खन्ना ने शायर मंजूर हाशमी की गजल के शेर ‘यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट भी लेकर चिराग जलता है’ के साथ बजट भाषण को आगे बढ़ाते हुए कहा कि लंबे समय तक लॉकडाउन के कारण सरकार की राजस्व प्राप्तियां प्रभावित रहीं, लेकिन इसके बावजूद सरकार ने प्रभावी वित्तीय अनुशासन लागू किया। कर्मचारियों के वेतन और पेंशन का प्रवाह बना रहा तथा सार्थक कोशिशों से प्रदेश की अर्थव्यवस्था फिर से गति पकड़ रही है।

वित्त मंत्री ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 का बजट प्रदेश के समग्र एवं समावेशी विकास द्वारा विभिन्न वर्गों का स्वावलंबन कर उनके सशक्तिकरण को समर्पित है। खन्ना ने कहा, ‘‘पिछली सरकारों के कार्यकाल में प्रदेश के महत्वपूर्ण स्थानों पर सरकारी संपत्तियां बड़े पैमाने पर निष्प्रयोज्य हो गयी थीं। हमारी सरकार ने इसे संज्ञान लेते हुए ऐसी संपत्तियों को पुनर्जीवित करते हुए क्लस्टर स्थापित करने का निर्णय लिया है।’’

वित्त मंत्री ने कहा कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए किसानों को उन्नत तकनीक का प्रशिक्षण एवं मुफ्त पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही सामाजिक सुरक्षा एवं कल्याण कार्यक्रमों से उन्हें सशक्त किया गया है। सरकार ने किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाना सुनिश्चित कराया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने गन्ना किसानों को 12,3000 करोड़ रुपये से ज्यादा के रिकॉर्ड गन्ना मूल्य का भुगतान कराया है। सरकार ने किसानों के लिये 15,000 सोलर पंप की स्थापना का लक्ष्य तय किया है।

खन्ना ने जब श्रीराम के नाम पर एयरपोर्ट का नाम रखने का ऐलान किया, तो सदन के सदस्यों ने मेजें थपथपाकर स्वागत किया और सदन में ‘जय श्री राम’ के नारे भी लगाये गये। उन्होंने इसके अलावा कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए व्यापक कार्य किए गए हैं। सरकार ने निर्णय लिया है कि हर अपराधी सलाखों के पीछे होगा। सरकार लोगों के जीवन स्तर में सुधार के लिए लगातार काम कर रही है। हर घर जल, हर घर बिजली, हर गांव में सड़क और हर गांव में बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

इस बजट का आकार पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 37,410 करोड़ रुपये ज्यादा है। प्रदेश के पहले ‘पेपरलेस’ बजट के तहत सभी सदस्यों को भी टैबलेट पर बजट दस्तावेज उपलब्ध कराया गया। यह प्रदेश की योगी सरकार का पांचवां बजट है। इस बजट में 27,598.40 करोड़ रुपये की नयी योजनाओं का प्रस्ताव किया गया है। (भाषा इनपुट्स के साथ)




.(tagsToTranslate)UP Finances 2021(t)UP Finances(t)Yogi Adityanath(t)Suresh Kumar Khanna(t)Finance Minister Suresh Khanna(t)UP Finances Provisions(t)UP Finances in Hindi(t)Maryada Purushottam Shriram Airport(t)Ayodhya(t)UP Information(t)State Information(t)Hindi Information


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *